Home Latest News वन रैंक वन पेंशन पर कम नहीं हो रही सरकार की मुश्किलें।

वन रैंक वन पेंशन पर कम नहीं हो रही सरकार की मुश्किलें।

0
SHARE
One Rank One Pension
One Rank One Pension

वन रैंक वन पेंशन पर कम नहीं हो रही सरकार की मुश्किलें। दिल्ली में प्रदर्शन के बाद गुड़गांव में दीवारों पर लगे पोस्टर।

वन रैंक वन पेंशन पर सरकार लगातार घिरती जा रही है। पहले दिल्ली में पूर्व सैनिकों ने वन रैंक वन पेंशन को लागू करने को लेकर 14 तारीख को क्रमिक अनशन पर बैठने की चेतावनी दी है। अब गुड़गांव में इसे लेकर पोस्टर छापे गए है।

पहले दिल्ली और सिरसा में प्रदर्शन करने के बाद अब केंद्रीय मंत्री के संसदीय क्षेत्र में वन रैंक वंन पेंशन को लागू करने के लिए पोस्टर लगाए गए है। हांलाकि ये पोस्टर किसने लगाए है इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है।

अकेले गुड़गांव की बात करें तो लगभग 30 हजार से ज्यादा पूर्व सैनिक OROP को लागू होने के इंतजार में है। नौकरी से रिटायर होने वाले लोगों को उनके रिटायरमेंट के समय के नियमों के हिसाब से पेंशन मिलती है।

जो लोग 25 साल पहले रिटायर हुए हैं उन्हें उस समय के हिसाब से पेंशन मिल रही है जो बहुत कम होती है। इसलिए मांग हो रही है कि एक रैंक के लोगों को एक तरह की पेंशन दें। इसके लिए कोई एक निश्चित तारीख तय करके सभी को अभी के हिसाब से पेंशन देने की माँग है।

वन रैंक वन पेंशन चुनावों के समय एक ऐसा मुद्दा जिसे बीजेपी ने जमकर भुनाया था। केंद्र में भी औऱ हरियाणा में भी। लेकिन अब इस मुद्दे को लेकर पूर्व सैनिकों को सरकार की मंशा पर शक है। ऐसे में 14 को दिल्ली में सैकड़ों पूर्व सैनिक प्रदर्शन भी करने जा रहे है। इस प्रदर्शन का कितना असर सरकार पर पड़ेगा ये जल्द साफ हो जाएगा

LEAVE A REPLY