Home Latest News उच्चतम न्यायालय के आदेश के कारण हरियाणा में 50,000 लोग रोजगार खो...

उच्चतम न्यायालय के आदेश के कारण हरियाणा में 50,000 लोग रोजगार खो सकते हैं

0
SHARE

हरियाणा के खजाने को कई सौ करोड़ों में चलने वाले राजस्व की हानि होने वाला है। इसके अलावा, राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों सहित बार और पब पर प्रतिबंध से 50,000 से अधिक लोग अपनी नौकरी खो सकते हैं।

हरियाणा के होटल और रेस्तरां एसोसिएशन के अध्यक्ष मनबीर चौधरी ने आशंका जताई कि हरियाणा सरकार अपने 20 फीसदी हिस्से का नुकसान कर सकती है। ऑर्डर के कारण चालू वित्तीय वर्ष में हरियाणा को 5,200 करोड़ रुपये का एक्साइज राजस्व का नुकसान होगा ।

श्री चौधरी ने कहा कि हालांकि राज्य आतिथ्य उद्योग ने अभी तक छंटनी नहीं की है, परंतु छंटनी होने पर 50,000 से अधिक लोग अपनी नौकरी और व्यापार को खो सकते हैं। उन्होंने कहा कि राजस्व और नौकरियों में कटौती के नुकसान के मामले में गुरुग्राम को सबसे ज्यादा नुकसान होगा।

इस के प्रभाव से गुरुग्राम में 30,000 से अधिक लोगों को बेरोजगार होंगे।

सूत्रों के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हरियाणा में 478 बार में से 1 9 4 बार पर प्रभाव होने की संभावना है। अधिकांश प्रभावित बार गुरुग्राम में 106 फरीदाबाद में 14 और अंबाला में 8 हैं।

श्री चौधरी ने कहा कि आतिथ्य उद्योग के प्रतिनिधि मंगलवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मिलेंगे।

LEAVE A REPLY